Home लाइफ़स्टाइल खुशखबरी: सिर्फ 35 रुपये में होगा कोरोना मरीजों का इलाज

खुशखबरी: सिर्फ 35 रुपये में होगा कोरोना मरीजों का इलाज

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। राहत देने वाली बात यह है कि बड़ी संख्या में कोरोना मरीज ठीक भी हो रहे हैं। पहले कोरोना इलाज के लिए कोई दवा नहीं थी, लेकिन पिछले कुछ महीनों में कोरोना के इलाज के लिए कई तरह की दवाएं लॉन्च हुई हैं। भारत में भी कई तरह की दवा लॉन्च की गई है। ग्लेनमार्क, हेटेरो, सन फार्मा आदि कंपनियों के बाद फार्मा कंपनी लुपिन लुपिन ने बुधवार को कोविहाल्ट नाम की दवा लॉन्च की है। 
वहीँ फार्मा कम्पनी सन फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्रीज ने मंगलवार को कोरोना मरीजों के लिए फ्लूगार्ड टैबलेट लॉन्च की है। भारतीय बाजार में इसकी एक टेबलेट की कीमत सिर्फ 35 रुपये है। खबरों की माने तो, फ्लूगार्ड टेबलेट से कोरोना के हल्के लक्षणों वाले मरीजों का इलाज किया जा सकेगा। यह दवा फेविपिराविर का वर्जन है।

कोरोना दवा
कोरोना दवाकोरोना दवा

फेविपिराविर एक मात्र ऐसी ड्रग है जिसे भारत में एंटी-वायरल ट्रीटमेंट के तौर पर कोविड-19 इलाज के लिए अनुमति दी गई है। इस फ्लूगार्ड टेबलेट में फेविपिराविर की 200 एमजी की डोज है। कहा जा रहा है कि दवा सस्ती होने के कारण इसकी पहुंच ज्यादा मरीजों तक होगी।

मालूम हो कि जापानी कंपनी फुजीफिल्म होल्डिंग कॉर्प फेविपिराविर ड्रग को बड़े स्तर पर तैयार करती है। कंपनी इसे एविगन के नाम से बाजार में बेचती है। और इस दवा का इस्तेमाल इंफ्लुएंजा के इलाज में भी किया जाता है। ट्रायल में कोरोना मरीजों पर इस दवा ने अच्छा असर दिखाया था। 

सन फार्मा कंपनी की सीईओ(इंडिया) कीर्ति गानोरकरका बोले-देश में कोरोना जिस तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में कोरोना के मरीजों को तत्काल इलाज की जरूरत है। और कोरोना मरीजों के इलाज में लगे स्वास्थ्यकर्मियों को भी इलाज के लिए नए विकल्प दिए जाने चाहिए। इसलिए हम फ्लूगार्ड दवा लॉन्च कर रहे हैं ।

जानिए बाजार में कब होगी उपलब्ध ?
कंपनी का दावा है कि दवा सस्ती होने के कारण ज्यादा से ज्यादा गरीब मरीजों का इलाज संभव हो पाएगा। कंपनी के मुताबिक, सन फार्मा सरकार और स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मिलकर ‘फ्लूगार्ड’ को लोगो तक जल्द से जल्द पहुँचाया जायेगा । बाजार में इसी हफ्ते से फ्लूगार्ड दवा आप खरीद सकते हैं ।

इससे पहले भी आ चुकी है यह दवा
आपको मालूम होना चाहिए कि इससे पहले ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स कंपनी (Glenmark Pharmaceuticals) ने कोविड-19 के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर(Favipiravir) को फैबिफ्लू (FabiFlu) नाम से बाजार में उतारा है। यह दवा डॉक्टर की सलाह पर ही आपको मिलेगी. मार्किट में 34 टैबलेट के पत्ते की कीमत 3,500 रुपये है। 

हेटेरो ने भी उपलब्ध कराई है दवा
फार्मा कंपनी हेटेरो ने भी फेविपिराविर को भारतीय बाजार में ‘फेविपिर’ नाम से लांच लिया है। इस दवा की कीमत 59 रुपये प्रति टैबलेट है। क्लीनिकल ट्रायल में इस दवा के सकारात्मक परिणाम सामने आने के बाद इस दवा को अनुमति दी गई है। इससे पहले भी इस कंपनी ने कोरोना के इलाज में कारगर कोविफोर लॉन्च की है, जो रेमडेसिविर का वर्जन है। 

Most Popular

Breaking news: 6 मोटरसाइकिल के साथ गिरफ्तार हुआ चोर

  बस्ती । पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा के निर्देशन में अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत थाना अध्यक्ष हर्रैया सर्वेश राय ने...

प्राइवेट जॉब कर रहे अंधभक्तो के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है

प्राइवेट जॉब कर रहे अंधभक्तो के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है अब उन्हें उनका मालिक जब चाहे तब लात मारकर निकाल सकता है इससे...

जया को दिया कंगन का करारा जवाब, कहा-मेरी जगह श्वेता होतीं, तो क्या तब भी…

कंगना रनौत लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. वो सोशल मीडिया पर बेबाकी से अपनी राय रख रही हैं. अब उन्होंने एक ट्वीट किया...

IPL2020: ये है CSK की ताकत, चैम्पियन बनने की है प्रबल दावेदार

साल 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत होने के बाद से अब तक चेन्नई सुपर किंग्स टीम में काफी निरंतरता रही है....

Recent Comments