Home Main Slide रूस की कोरोना वैक्सीन पर अमेरिका की पैनी नजर, कही ये बड़ी...

रूस की कोरोना वैक्सीन पर अमेरिका की पैनी नजर, कही ये बड़ी बात…

रूस ने मंगलवार को कोरोना वायरस की सफल वैक्सीन बना लेने का ऐलान किया. हालांकि इसके बाद से ही उस पर सवालों की बौछार हो गई है. अमेरिका के प्रमुख संक्रामक रोग विशेषज्ञ एंथनी फाउची रूस के वैक्सीन बना लेने के ऐलान पर कहा कि उन्हें शक है कि ये वैक्सीन कोरोना वायरस पर काम करेगी.  एक सामूहिक चर्चा के दौरान फाउची ने कहा, ‘वैक्सीन बनाना और उस वैक्सीन को सुरक्षित और प्रभावी साबित करना दोनों अलग-अलग चीजें हैं.

फाउची का ये बयान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के उस ऐलान के बाद आया है कि रूस दुनिया पहला ऐसा देश बन गया है जिसे COVID-19 वैक्सीन की रेगुलेटरी मंजूरी मिली है. पुतिन का कहना है कि यह वैक्सीन अपने क्लिनिकल ट्रायल में कारगर साबित हुई है और कोरोना वायरस के खिलाफ ये शरीर में इम्यूनिटी बनाने में सफल रही है.

हालांकि, रूस की इस वैक्सीन ने अपने तीसरे चरण का ट्रायल अभी पूरा नहीं किया है जिसकी वजह से इसके प्रभावी होने को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने संदेह जाहिर किया गया है. फाउची ने कहा कि उन्हें कोई ऐसा सबूत नहीं मिला है जिससे पुतिन के कारगर वैक्सीन बना लेने के ऐलान पर भरोसा किया जा सके.

यह भी पढ़ें: जानिए भारत को कब मिलेगी रूस की कोरोना वैक्सीन? क्या होगा रेट…

फाउची ने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि रूस के लोगों ने निश्चित रूप से ये साबित किया होगा कि वैक्सीन सुरक्षित और असरदार है. हालांकि मुझे संदेह है कि उन्होंने ऐसा किया होगा.’ उन्होंने कहा कि अमेरिकियों को यह समझना चाहिए कि वैक्सीन की मंजूरी प्राप्त करने के लिए उसका सुरक्षित और प्रभावी साबित होना जरूरी है.

फाउची ने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि COVID-19 की एक सुरक्षित वैक्सीन इस साल के अंत तक आ जाएगी. हालांकि उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि एक सुरक्षित और प्रभावी वैक्सीन की गारंटी कभी नहीं दी जा सकती है. रूस के वैक्सीन बना लेने के दावे पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को कहा कि वह रूस की COVID-19 वैक्सीन बनाने की प्रक्रिया की निगरानी कर रहा था. WHO ने कहा कि वायरस से निपटने में सुरक्षा को लेकर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाना चाहिए.

फ़ूड एण्ड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के पूर्व कमिश्नर स्कॉट गॉटलीब ने भी फाउची के संदेह का समर्थन करते हुए कहा कि रूस महामारी पर कई फर्जी अभियान चला रहा है. गॉटलीब ने कहा, ‘उन्होंने पहले चरण के डेटा पर ही वैक्सीन को मंजूरी दे दी. ये सब बस अमेरिका पर एक दबाव डालने के लिए किया गया है.’

रूस इसी महीने अपने चिकित्सा कर्मियों को COVID-19 की वैक्सीन देने की योजना बना रहा है. रॉयटर्स के मुताबिक, अक्टूबर के महीने में इसे आम लोगों के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा.

Most Popular

जया को दिया कंगन का करारा जवाब, कहा-मेरी जगह श्वेता होतीं, तो क्या तब भी…

कंगना रनौत लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. वो सोशल मीडिया पर बेबाकी से अपनी राय रख रही हैं. अब उन्होंने एक ट्वीट किया...

IPL2020: ये है CSK की ताकत, चैम्पियन बनने की है प्रबल दावेदार

साल 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत होने के बाद से अब तक चेन्नई सुपर किंग्स टीम में काफी निरंतरता रही है....

क्यों धीरे-धीरे कम हो रहा कपल्स के बीच का रोमांस, जानिए सच्चाई…

लंबे समय तक साथ रहने वाले कपल्स एक समय के बाद रिश्ते में पहले जैसा उत्साह नहीं महसूस करते हैं. खासतौर से सेक्स को...

Realme की कम कीमत में ये हैं सबसे शानदार 2 स्मार्टफोन, देखें फीचर…

भारत में पिछले दिनों कई पॉकेट फ्रेंडली स्मार्टफोन ने दस्तक दी है। अगर 10,000 रुपये से कम बजट के स्मार्टफोन की बात करें, तो...

Recent Comments