Home लाइफ़स्टाइल कोरोना को लेकर वैज्ञानिकों का बड़ा दावा, इस तरह के पानी से...

कोरोना को लेकर वैज्ञानिकों का बड़ा दावा, इस तरह के पानी से खत्म होगा वायरस

कोरोना महामारी का संक्रमण पूरी दुनिया में कोहराम मचाए हुए है । देश में कोरोना के मामले दिनों-दिन बढ़ते जा रहें हैं । लेकिन राहत वाली बात यह है कि हर दिन बड़ी संख्या में लोग ठीक भी हो रहे हैं। दुनियाभर में 120 से ज्यादा वैक्सीन कैंडिडेट पर काम हो रहा है। भारत, ब्रिटेन, अमेरिका, रूस समेत कई देश इसकी वैक्सीन तैयार करने के बेहद करीब पहुँच चुकें हैं । कोरोना को लेकर वैज्ञानिक और शोध संस्थान लगातार शोध कर रहें हैं। वहीँ एक नए शोध अध्ययन में कोरोना वायरस की एक बड़ी कमजोरी सामने आई है।

कोरोना महामारी को रोकने के लिए शोधकर्ता और वैज्ञानिक वैक्सीन को बनाने में लगे हुए हैं और साथ ही साथ कोरोना वायरस के बारे में नई-नई चीजों को भी समझ रहे हैं। इसी कड़ी में रूसी वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की एक नई कमजोरी को पता करने में कामयाबी हासिल की है। 

सामान्य पानी कोरोना को बढ़ने से रोक सकता है

खबरों की माने तो, रूस के वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी की रिसर्च टीम ने पता लगाया है कि कमरे के तापमान पर पानी तेजी से फैल रहे वायरस को रोकने में कारगर हो सकता है। 
इस शोध में पाया गया कि सामान्य पानी कोरोना वायरस को बढ़ने से रोक सकता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, 24 घंटे के अंतराल में कमरे के तापमान पर मौजूद पानी में कोरोना वायरस के 90 फीसदी कण नष्ट हो गए, और 72 घंटों में 99.9 फीसदी वायरस के कण खत्म हो गए। 

सामान्य पानी कोरोना को बढ़ने से रोक सकता है  खबरों की माने तो, रूस के वेक्टर स्टेट रिसर्च सेंटर ऑफ वायरोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी की रिसर्च टीम ने पता लगाया है कि कमरे के तापमान पर पानी तेजी से फैल रहे वायरस को रोकने में कारगर हो सकता है।  इस शोध में पाया गया कि सामान्य पानी कोरोना वायरस को बढ़ने से रोक सकता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, 24 घंटे के अंतराल में कमरे के तापमान पर मौजूद पानी में कोरोना वायरस के 90 फीसदी कण नष्ट हो गए, और 72 घंटों में 99.9 फीसदी वायरस के कण खत्म हो गए। 

ये पानी भी है असरदार

वैज्ञानिको के मुताबिक, क्लोरीन वाला पानी भी कोरोना वायरस को खत्म करने में कारगर है। यहाँ के शोधकर्ताओं ने पाया कि कोरोना वायरस समुद्र के पानी में कुछ देर जिंदा तो रह सकता है, लेकिन यह वायरस यहाँ बढ़ता भी नहीं है। क्लोरीन वाले पानी में भी यही बात लागू होती है। फिरहाल वायरस कितनी देर जिंदा रहेगा, यह पानी के तापमान पर निर्भर करता है । 

उबला हुआ पानी है ज्यादा असरदार

रूस के शोधकर्ताओं के अनुसार उबलते हुए पानी में कोरोना वायरस तुरंत मर जाता है। रूस के इस शोध में कहा गया है कि खौलता पानी वायरस को तुरंत उसी वक्त और पूरी तरह से मार देता है। 

Most Popular

Breaking news: 6 मोटरसाइकिल के साथ गिरफ्तार हुआ चोर

  बस्ती । पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा के निर्देशन में अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत थाना अध्यक्ष हर्रैया सर्वेश राय ने...

प्राइवेट जॉब कर रहे अंधभक्तो के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है

प्राइवेट जॉब कर रहे अंधभक्तो के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी है अब उन्हें उनका मालिक जब चाहे तब लात मारकर निकाल सकता है इससे...

जया को दिया कंगन का करारा जवाब, कहा-मेरी जगह श्वेता होतीं, तो क्या तब भी…

कंगना रनौत लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. वो सोशल मीडिया पर बेबाकी से अपनी राय रख रही हैं. अब उन्होंने एक ट्वीट किया...

IPL2020: ये है CSK की ताकत, चैम्पियन बनने की है प्रबल दावेदार

साल 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत होने के बाद से अब तक चेन्नई सुपर किंग्स टीम में काफी निरंतरता रही है....

Recent Comments