Home Main Slide किसान आंदोलन से डरा पाकिस्तान, हाई अलर्ट पर सेना

किसान आंदोलन से डरा पाकिस्तान, हाई अलर्ट पर सेना

पाकिस्तान को एक बार फिर भारत की सर्जिकल स्ट्राइक का डर सता रहा है. पाकिस्तान के प्रमुख अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने लिखा है कि खुफिया एजेंसियों से संकेत मिले हैं कि दिल्ली में जारी किसान प्रदर्शनों से ध्यान हटाने के लिए भारत फिर कोई दुस्साहस कर सकता है. अखबार ने सेना के सूत्रों के हवाले से लिखा है कि  सर्जिकल स्ट्राइक की आशंका से पाकिस्तान ने भारत से लगी सीमा पर सैनिकों को हाई अलर्ट कर दिया है.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने लिखा है, “भारत की हिंदुत्ववादी नरेंद्र मोदी सरकार देश में जारी विरोध-प्रदर्शनों को कमजोर करने के लिए कुछ भी कर सकती है. भारत ये भी नहीं चाहता है कि सिख किसानों के नेतृत्व में हो रहे आंदोलन से खालिस्तानी आंदोलन को हवा मिले.” 

अखबार ने लिखा है कि कई विश्वसनीय सूत्रों से पता चला है कि एलओसी (लाइन ऑफ कंट्रोल) और भारत-पाकिस्तान वर्किंग बाउंड्री पर पाकिस्तानी सैनिकों को हाई अलर्ट पर कर दिया गया है ताकि भारत के किसी भी दुस्साहस का जवाब दिया जा सके. पाकिस्तान के अखबार जियो न्यूज ने भी ये खबर छापी है.

पाकिस्तान के अखबार जियो न्यूज ने लिखा है कि पाकिस्तान ने भारत के किसी फ्लैग ऑपरेशन या सर्जिकल स्ट्राइक की आशंका से सेना को अलर्ट पर रखा है. अखबार ने लिखा है कि भारत अपनी आंतरिक और बाहरी समस्याओं से ध्यान हटाने के लिए पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकता है. अखबार ने लिखा है कि अल्पसंख्यकों, किसान आंदोलन और कश्मीर को लेकर भारत पर बहुत ज्यादा दबाव है. भारत लद्दाख में भी चुनौतियों का सामना कर रहा है.

यह भी पढ़ें: 3 बड़े संशोधनों के बाद लागू होगा कृषि कानून, लेकिन यहाँ आकर अटका पेच

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के जवाब में फरवरी 2019 में भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकियों के ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी. हालांकि, एक तरफ तो पाकिस्तान सर्जिकल स्ट्राइक की बात से इनकार करता रहा है लेकिन दूसरी तरफ उसे सर्जिकल स्ट्राइक का डर भी सताता रहता है.

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के जवाब में फरवरी 2019 में भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकियों के ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी. हालांकि, एक तरफ तो पाकिस्तान सर्जिकल स्ट्राइक की बात से इनकार करता रहा है लेकिन दूसरी तरफ उसे सर्जिकल स्ट्राइक का डर भी सताता रहता है.

पाकिस्तान के विज्ञान एवं तकनीक मंत्री फवाद चौधरी ने किसानों के आंदोलन को लेकर ट्वीट किया था, ‘निर्दयी मोदी सरकार को पंजाब के किसानों की कोई परवाह नहीं है. फवाद चौधरी ने अपने ट्वीट में ना केवल भारत के आंतरिक मसले पर टिप्पणी की बल्कि भारतीय किसानों में फूट डालने की कोशिश भी की. उन्होंने ‘गुजराती हिंदुत्व’ को दोष देते हुए पंजाबी किसानों के साथ सहानुभूति जताई.

फवाद ने एक अन्य ट्वीट में लिखा था, कहीं पर भी हो रहा अन्याय न्याय के लिए खतरा है. हमें पंजाबी किसानों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए. मोदी सरकार की नीतियां पूरे क्षेत्र के लिए खतरा है.

 
 

Most Popular

क्या न्यू ईयर पर कटरीना और विकी ने की हैं साथ पार्टी, जानिए…

बॉलीवुड अभिनेत्री कटरीना कैफ और फिल्म अभिनेता विकी कौशल का अफेयर अब नए मोड़ पर पहुंच गया हैl खबरों की मानें तो दोनों ने...

गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की हुई वापसी, इस टीम के खिलाफ खेलेंगे टी20 मुकाबला!

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार नए साल में वापसी करने के लिए तैयार हैं। चोट की वजह से पिछले साल इंडियन...

UP में ठंड का कहर, शून्य के करीब पहुंचा लखनऊ व मथुरा का तापमान

नए वर्ष के स्वागत में ठंड ने भी रिकॉर्ड तोड़ दिया। शुक्रवार को बर्फीली हवाओं की वजह से लखनऊ और मथुरा का न्यूनतम शून्य...

वैज्ञानिकों का बड़ा दावा: सिगरेट पीने से बनता है दिमाग में ‘कोहरा’

सिगरेट, हुक्का, बीड़ी, चिलम या ई-सिगरेट पीने वाले लोगों को दिमाग में कोहरा जमा हो जाता है. ये कोहरा ठीक वैसे ही होता है...

Recent Comments